प्रेगनेंसी में एसिडिटी के घरेलू उपाय..

प्रेगनेंसी में महिलाओं के शरीर में हार्मोनल बदलाव होते हैं। इसकी वजह से महिलाओं का पाचन तंत्र भी प्रभावित होता है। पाचनतंत्र में कमजोरी की वजह से महिलाओं को प्रेगनेंसी में एसिडिटी, सीने में जलन व अपच होने लगती है। इस समस्या में महिलाओं को असहजता होने लगती है। इस परेशानी से बचने के लिए महिलाओं को अपनी रोजाना की डाइट पर ध्यान देने की आवश्यकता होती है। प्रेगनेंसी में ज्यााद ऑयली, मसालेदार व जंक फूड खाने की वजह से महिलाओं को अक्सर एसिडिटी की प्रॉबल्म हो जाती है। लेकिन यदि महिला अपने प्रेगनेंसी रूटिन को ठीक बनाएं व खानपान की आदतों में बदलाव करें तो एसिडिटी सहित प्रेगनेंसी में होने वाली कई परेशानियों को कम किया जा सकता है। इस समय महिलाओं को संतुलित व पौष्टिक खाने पर जोर देना चाहिए। आगे जानते हैं प्रेगनेंसी में एसिडिटी होने पर महिलओं को किन घरेलू उपायों को अपनाना चाहिए।  

प्रेगनेंसी में एसिडिटी का कारण  

प्रेगनेंसी में महिलाओं के शरीर में प्रोजेस्टेरोन नामक हार्मोन की अधिकता होने लगती है। इसकी वजह से खाने का कुछ हिस्सा उनकी आहार नली से वापस जाने लगता है। इसकी वजह से उन्हें एसिडिटी व सीने में जलन की समस्या होने लगती है। इसके अलावा तीसरी तिमाही में जब भ्रूण का आकार बड़ा हो जाता है तो महिला के पाचन तंत्र पर दबाव पड़ता है, जिसकी वजह से भी महिलाओं को एसिडिटी की समस्या का सामना करना पड़ता है।  

एसिडिटी के घरेलू उपाय –

प्रेगनेंसी का अहसास हर महिला के लिए खास होता है। जो महिलाएं पहली बार प्रेगनेंट होती हैं उनको इस समय होने वाले शारीरिक व हार्मोनल बदलावों की वजह से परेशानी होने लगती है। इस समय एसिडिटी होना आम बात है, आगे जानते हैं प्रेगनेंसी में के बारे में।  

शहद और नींबू का पानी  

प्रेगनेंसी में एसिडिटी की समस्या होने पर महिलाओं को शहद व नींबू का सेवन करना चाहिए। गर्म पानी में एक से दो चम्मच नींबू को डाल दें। इसके बाद इस पानी में करीब एक चम्मच शहद मिला दें। जब पानी गुनगुना हो तो जाए तो इसे घूंट-घूंटकर पिएं। इससे महिलाओं को एसिडिटी में आराम मिलता है।  

सौंफ का करें सेवन  

सौंफ पेट के कई विकारों को कम करने में मददगार होती है। प्रेगनेंसी में एसिडिटी की समस्या से बचने के लिए महिलाएं खाने से बाद सौंफ का सेवन कर सकती हैं। इसके अलावा महिलाएं सौंफ को पानी में उबालकर भी पी सकती हैं। सौंफ के साथ किसी अन्य चीज को न मिलाएं। सौंफ से पाचन क्रिया दुरुस्त होती है।  

नारियल पानी पिएं  

प्रेगनेंसी में एसिडिटी के समस्या होने पर महिलाएं नारियल पानी पी सकती हैं। नारियल पानी पेट के समस्याओं को दूर करने का काम करता है, साथ ही पाचन क्रिया को दुरुस्त करने के काम भी आता है। इसके फायदे लेने के लिए महिलाएं सुबह चाय या कॉफी पीने की बजाय  पी सकती हैं। नारियल पानी में पाए जाने वाले विटामिन और मिनिरल्स प्रेगनेंसी में यदेमंद होते हैं।  

एलोवेरा का जूस 

एलोवेरा का जूस कई बीमारियों में पिया जा सकता है। प्रेगनेंसी में महिलाएं एलोवेरा के जूस को पीने से एसिडिटी की समस्या को ठीक कर सकती हैं। साथ ही इससे अपच की परेशानी भी दूर होती है। एलोवेरा के जूस से प्रेगनेंसी की कई प्रॉबल्म को दूर किया जा सकता है।  

प्रेगनेंसी में एसिडिटी को कम करने के लिए कुछ आदतों में बदलाव करें 

  • दिन में एक बार ज्यादा भोजन करने की अपेक्षा थोड़ी-थोड़ी मात्रा में आहार ग्रहण करें।  
  • पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं।  
  • खाने के बाद तुरंत सोना या लेटना नहीं चाहिए।  
  • चाय या कॉफी का अधिक सेवन न करें।  
  • बाईं करवट सोने से परेशानी में आराम मिलता है।   

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

9 − 9 =

Back to top button