कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एके एंटनी के बेटे अनिल ने इस डॉक्यूमेंट्री का विरोध करते हुए भाजपा का दिया था साथ..

पीएम मोदी पर बीबीसी की विवादित डॉक्यूमेंट्री पर रार थम नहीं रही है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एके एंटनी के बेटे अनिल ने इस डॉक्यूमेंट्री का विरोध करते हुए भाजपा का साथ दिया था। इसके एक दिन बाद ही उन्होंने कांग्रेस को अलविदा कह दिया है। कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद अनिल एंटनी ने विरोधियों पर हमला बोला है।

कांग्रेस में मेरे लिए जगह नहीं

कांग्रेस का हाथ छोड़ने के बाद अनिल एंटनी ने कहा कि ये मेरा व्यक्तिगत फैसला है। मुझे लगता है कि यह कार्रवाई का सबसे अच्छा तरीका है। मैंने अपने पिता के साथ इस पर चर्चा नहीं की। मैंने अपना इस्तीफा भेज दिया है और मुझे उम्मीद है कि नेतृत्व इसे स्वीकार करेगा। मुझे नहीं लगता कि यहां कांग्रेस मेरे लिए जगह है।

रात से मिल रही धमकी

अनिल ने समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए बताया, “मुझे रात से धमकी भरे कॉल और नफरत वाले संदेश मिल रहे हैं। पिछले 24 घंटों में बहुत कुछ हुआ, खासकर कांग्रेस के कुछ हिस्सों से। इन सबसे मैं बहुत आहत हुआ हूं।”

ट्वीट हटाने को लेकर बनाया दबाव

बता दें कि अनिल एंटनी ने बुधवार सुबह एक ट्वीट कर कांग्रेस छोड़ने की घोषणा की थी। अनिल ने इस्तीफा देते हुए कहा था कि मुझ पर मेरा ट्वीट हटाने के लिए दबाव बनाया जा रहा था। बता दें कि इस ट्वीट में अनिल ने बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री का विरोध किया था। अनिल ने कहा कि उन्होंने ट्वीट हटाने की मांगों को नहीं माना और इस्तीफा दे दिया।

डॉक्यूमेंट्री विवाद पर दिया था BJP का साथ

गौरतलब है कि अनिल एंटनी ने डॉक्यूमेंट्री विवाद पर भाजपा का साथ दिया था। अनिल ने मंगलवार को कहा कि जो लोग ब्रिटिश प्रसारक और ब्रिटेन के पूर्व विदेश सचिव जैक स्ट्रा के विचारों का समर्थन करते हैं और उन्हें जगह देते हैं, वे भारतीय संस्थानों पर एक खतरनाक मिसाल कायम कर रहे हैं। क्योंकि 2003 के इराक युद्ध के पीछे जैक स्ट्रा का दिमाग था। उन्होंने कहा कि भाजपा के साथ बड़े मतभेद के बावजूद, मुझे लगता है कि यह हमारी संप्रभुता को कमजोर करेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × 5 =

Back to top button