बढ़ते वजन को कंट्रोल करना है तो करे ये उपाए

साइकोलॉजिस्ट ने पाइनएप्पल डाइट प्लान का इजाद किया है। बात 1970 की है जब स्टेन और उसकी पत्नी ने एक बुक पब्लिश किया था। इस बुक का नाम भी पाइनएप्पल डाइट था। इस डाइट प्लान का मुख्य मकसद बढ़ते वजन को कंट्रोल करना है।

बढ़ते वजन को कंट्रोल करना आसान नहीं होता है। इसके लिए लोग डाइटिंग और वर्कआउट का सहारा लेते हैं। आजकल कई प्रकार की डाइटिंग प्लान ट्रेंडिंग में हैं। इनमें एक Pineapple Diet Plan है। इस डाइट प्लान को लेकर दावा किया जाता है कि पाइनएप्पल डाइट प्लान को फॉलो करने से बढ़ते वजन को आसानी से कंट्रोल किया जा सकता है। अगर आप भी मोटापे से परेशान हैं और बढ़ते वजन को कंट्रोल करना चाहते हैं, तो पाइनएप्पल डाइट प्लान फॉलो कर सकते हैं। आइए, इसके बारे में सबकुछ जानते हैं-

पाइनएप्पल डाइट प्लान क्या है ?

साइकोलॉजिस्ट ने पाइनएप्पल डाइट प्लान का इजाद किया है। बात 1970 की है, जब स्टेन और उसकी पत्नी ने एक बुक पब्लिश किया था। इस बुक का नाम भी पाइनएप्पल डाइट था। इस डाइट प्लान का मुख्य मकसद बढ़ते वजन को कंट्रोल करना है। इसके तहत सप्ताह के 7 दिन में केवल 2 दिन पाइनएप्पल यानी अनानास खाने की सलाह दी जाती है। वहीं, अन्य 5 दिन में सामान्य तरीके से भोजन कर सकते हैं। साथ ही पाइनएप्पल डाइट प्लान के साथ अपनी पसंद की चीजों को भी शामिल कर सकते हैं।हालांकि, एक चीज का अवश्य ध्यान रखें कि रोजाना केवल 500 कैलोरी ले सकते हैं। डाइट प्लान के बारे में अधिक जानकारी ऑनलाइन पर उपलब्ध नहीं है। इसकी जानकारी आप बुक के जरिए प्राप्त कर सकते हैं। एक इंटरव्यू में स्टेन ने कहा था कि यह डाइट प्लान तथ्यों पर आधारित नहीं है। इस डाइट को फॉलो करने से मोटापे में फायदा मिलता है। इस डाइट प्लान को फॉलो करते समय यह अवश्य ध्यान रखें कि 2 दिनों तक केवल और केवल पाइनएप्पल ही खाने हैं। इसके अलावा, अगर अन्य चीजों को आप अपनी डाइट में शामिल करते हैं, तो कैलोरी काउंट 500 से अधिक नहीं होनी चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 3 =

Back to top button