हाई बीपी में रखे इन 4 बातों का ध्यान

आर्टरीज़ और हार्ट पर ज़्यादा प्रेशर पड़ने पर ब्लड प्रेशर हाई होने लगता है। सिर्फ यही नहीं हार्ट रेट बढ़ने हार्मोनल बदलाव वातावरण में बदलाव डाइटरी हैबिट नमक ज़्यादा खाने और बहुत ज़्यादा इमोशनल होने से भी ब्लड प्रेशर बढ़ता है।

 जब भी हाइपरटेंशन या हाई ब्लड प्रेशर की दिक्कत शुरू होती है, तो सबसे पहले नमक का सेवन कम करने की बात दिमाग में आती है, ताकि बीमारी से लड़ा जा सके। सफेद नमक जिसका रोज़ाना खाने में इस्तेमाल किया जाता है, में सोडियम की मात्रा काफी ज़्यादा होती है। सोडियम ब्लड प्रेशर के स्तर को बढ़ाने का काम करता है, जिससे दिल की बीमारी का जोखिम कम होता है।

मायो क्लीनिक के अनुसार, सोडियम की मात्रा हल्की सी कम करने से भी दिल की सेहत को फायदा पहुंचा है। हालांकि, हमें दिन में 2300 एमजी यानी एक चम्मच से ज़्यादा नमक नहीं खाना चाहिए। हर हाई बीपी का इलाज नहीं किया जाए, तो इससे स्ट्रोक या हार्ट अटैक का ख़तरा बढ़ता है, कई बार किडनी की बीमारी और आंखों से जुड़ी दिक्कत भी हो सकती है।

नैचुरल तरीके से हाइपरटेंशन को कैसे कंट्रोल कर सकते हैं?

हाई ब्लड प्रेशर को प्राकृतिक तरीके से कंट्रोल करने के लिए इन टिप्स को फॉलो करें:

वर्कआउट

हाई ब्लड प्रेशर के मरीज़ों को अपने वर्कआउट के तरीकों को बदलना पड़ सकता है। हालांकि, रोज़ाना एक्सरसाइज़ करना बेहद ज़रूरी होता है, ताकि बीपी का स्तर बना रहे।

ध्यान का अभ्यास करें

वर्कआउट के साथ ज़रूरी है कि आप सांस से जुड़ा व्यायाम और ध्यान का अभ्यास भी करें ताकि ब्लड प्रेशर का स्तर कम हो सके।

पेट की चर्बी को कम करें

जब बात आती है ब्लड प्रेशर के स्तर को कम करने की, तो पेट के आसपास जमी चर्बी पर भी ध्यान देने की ज़रूरत होती है। अगर आपके पेट पर चर्बी की मात्रा ज़्यादा है, तो इससे भी ब्लड प्रेशर का स्तर चढ़ सकता है। पुरुषों में यह जोखिम और बढ़ जाता है, अगर कमर का साइज़ 40 इंच से ज़्यादा हो और महिलाओं में 35 इंच से ज़्यादा।

तनाव को दूर रखें

तनाव ज़्यादातर बीमारियों के पीछे का कारण होता है और हाइपरटेंशन इससे नहीं बच सकता। जब आप तनाव में होते हैं, तो आपका शरीर एक हॉर्मोन का उत्पादन करता है, जिससे दिल की धड़कने बढ़ती हैं और बीपी भी। इसलिए तनाव और बेचैनी को दूर रखने की कोशिश करें ताकि कार्डियेक की दिक्कतें भी दूर रहें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × 5 =

Back to top button